शास्त्रों के अनुसार सावन के महीने को बहुत ही पवित्र माना गया है। हर साल इस पवित्र महीने का इंतजार सभी को रहता है। सावन की महीने में भगवान शिव की पूजा की जाती है। ऐसा माना जाता है कि सावन के महीने में जो भी व्यक्ति सोमवार का व्रत रखता है। भगवान शंकर उसकी हर मनोकामना पूरी करते हैं। हिंदू कैलेंडर के मुताबिक सावन माह की शुरुआत 14 जुलाई गुरुवार से होने जा रही है। वहीं 18 जुलाई 2022 को सावन का पहला सोमवार रहेगा। वहीं 12 अगस्त 2022 को सावन माह समाप्त हो जाएगा। और इसके बाद ही भाद्रपद माह की शुरुआत हो जाएगी। आइए जानते हैं सावन माह की पूजा विधि, महत्व और शुभ मुहूर्त।

सावन सोमवार की तिथियां

14 जुलाई गुरुवार - श्रावण मास का पहला सोमवार

18 जुलाई सोमवार - सावन सोमवार व्रत

25 जुलाई सोमवार - सावन सोमवार व्रत

01 अगस्त सोमवार - सावन सोमवार व्रत

08 अगस्त सोमवार - सावन सोमवार व्रत

12 अगस्त शुक्रवार - श्रावण मास का अंतिम दिन

सावन सोमवार का महत्व

हिंदी कैलेंडर के पांचवे स्थान पर श्रावण मास आता है। इसमें वर्षा ऋतु का प्रारंभ होता है। धार्मिक मान्यता के मुताबिक सावन का महीना भगवान शिव को समर्पित होता है। जो व्यक्ति सावन के सोमवार को व्रत रखकर भगवान शिव की उपासना करता है। भगवान शिव उसकी हर इच्छा पूरी करते हैं। यही वजह है कि सावन के महीने में शिव भक्त ज्योतिर्लिंगों के दर्शन करने जाते हैं।